Emotional Health को बेहतरीन बनाने की 5 Tips।इमोशनली रूप से मजबूत कैसे बने

मानसिक रूप से मज़बूत कैसे बनें


नमस्कार दोस्तो, आज के इस लेख के अंदर हम एक बहुत ही Interesting और Important Topic के बारे में बात करने वाले है और वो Topic है " Emotional Health " के बारे में क्योकि इस बात को जानना हम सभी के लिए जरुरी है, तो चलिए शुरू करते है, 


दोस्तो, आज के इस समय में हर इंसान भाग रहा है, अगर हम बात करे तो एक स्टूडेंट अपने School/College में Top करना चाहता है और कोई Government job को पाना चाहता है, कहने का मतलब ही कि हर इंसान कुछ न कुछ पाने की चाह में लगा हुआ है ।




Emotional health ko maintain rakhne ki 5 tips in Hindi




इस पाने की चाह में इंसान बहुत सी और चीजों के ऊपर ध्यान नहीं दे पाता है जैसे अपनी Physical Health और Relationship जो कि हर एक इंसान के लिए बहुत ही जरूरी होती है लेकिन इन सभी से भी एक चीज बहुत ही जरूरी होती ,है जिस पर तो हमारा ध्यान बिल्कुल भी नहीं होता है वो है हमारी "Emotional health " दोस्तो ये एक इंसान के लिए सबसे जरूरी होती है ।


ये हम सभी के लिए बहुत ही जरूरी होती है फिर चाहे आप 10 साल के हो चाहे 30 के या फिर 50 के हो, इसको समझना बहुत ही जरूरी होता है क्योंकि जब आप एक बार इसको समझ जाते हो तो आप आसानी के साथ अपनी Life को Balance कर सकते हो ।


Emotional Health को कैसे सही रखा जाए ये जानने से पहले हम जानते है कि Emotional health असल में होती क्या है ? 




अगर हम बात करे तो एक इंसान के पास दो तरह की Health होती है 

  1. Physical Health

  2. Mental Health 



Emotional health, Mental health का ही एक हिस्सा होती है, इमोशन्स जो होते है वो हमारी पूरी Body को Control करते है, एक इंसान अगर Emotionally रूप से fit हैं तो को अपने Thought, फीलिंग, Emotions पर बड़े ही आराम से Control कर सकता है और जीवन में आने वाली सभी चुनौतियों का सामना बड़े ही आसानी के साथ कर सकता है ।


अब तक हमने जाना कि Emotional Health क्या होती है अब जानते है कि इसका असल में क्या मतलब होता है और फिर उसके बाद हम जानेंगे कि किस तरह से आप अपनी Emotional health को आसानी के साथ मैनेज कर सकते है ।


जब भी Emotinal Health की बात आती है तो इसका ये मतलब यह नहीं है कि आप हर समय खुश रहें और हर समय Positive ही सोचे, नही ऐसा नहीं होता है ।


इसका मतलब है कि आप अपनी भावनाओं से रूबरू हैं कि आप उनसे कैसे निपट सकते हैं, फिर चाहे वे सकारात्मक हों या नकारात्मक। 


भावनात्मक रूप से स्वस्थ लोग अभी भी तनाव, क्रोध और उदासी महसूस करते हैं। लेकिन वे इस बात को भी जानते हैं कि अपनी नकारात्मक भावनाओं को कैसे Manage किया जाता है, वे बता सकते हैं कि जब कोई समस्या आती है तो उसको कैसे संभाला जाता है ।


कुछ ऐसी बातें है जो बताती है कि आप Emotional रूप से फिट नहीं है, तो चलिए जानते है ।


  • आपका अपने परिवार या सहकर्मियों या दोस्तो से खुद को अलग करना और उनसे दूर रहना ।

  • Energy की कमी महसूस करना 

  • बहुत ज्यादा या बहुत कम सोना

  • बहुत ज्यादा या बहुत कम खाना

  • नशीले पदार्थो का  अधिक प्रयोग

  • काम पर कम focus

  • चिड़चिड़ापन, निराशा या बेकार की भावनाएँ

  





      

                           How to Become Emotionally Strong in Hindi 

                                   भावनात्मक रूप से मजबूत कैसे बने 


दोस्तो, अब हम आपके साथ कुछ तरीके शेयर करने जा रहे है जो आपकी मदद करेंगे कि किस तरह से आप अपनी Emotional Health को मैनेज कर सकते है ? 



क्या आपने यह पढ़ा ?

IPS ऑफ़िसर कैसे बने?

बैंक मैनेजर कैसे बनें?

ट्रैफ़िक पुलिस कैसे बनें?

रेलवे में स्टेशन मास्टर कैसे बनें?




  1. खुद को Observe करे और अपने हर Reactions पर ध्यान दे-


सबसे पहले ध्यान दें कि आपके जीवन में ऐसा क्या है या ऐसी क्या चीज है जो आपको दुखी, निराश या क्रोधित करता है।


ऐसा आप एक या दो दिन में नहीं कर सकते है, इसके लिए आपको बहुत समय तक खुद को महसूस करना होगा लेकिन जब आप इसको जान लेते हो तो आप आसानी के साथ अपने हर Reaction को कंट्रोल कर सकते है ।


जब एक बार आपको अपने Reactions कंट्रोल करने आ जाते है तो आप अपने इमोशन्स को भी बड़े ही आसानी से कंट्रोल कर सकते है ।




   2. अपने Emotions को दुसरो के सामने सही तरीके से व्यक्त करे - 


बहुत बार ऐसा होता है कि सामने वाला कोई इंसान हमको कुछ बोल देता है जो कि हमको उस समय पर बुरा लगता है लेकिन बहुत बार वो बातें हमको अंदर ही अंदर परेशांन कर रहो होती है तो ऐसे में आप अपने करीबी लोगों को बताएं कि जब कोई चीज आपको परेशान कर रही हो। 


अगर आप अपने Emotions को बहुत ज्यादा समय तक अपने अंदर ही दबा कर रखते है तो उसका असर आपकी पूरी Body के ऊपर आने लग जाता है जो कि आपके लिए अच्छा नहीं होता है इसलिए इससे अच्छा है कि आप  अपने Emotions को दुसरो के सामने सही तरीके से व्यक्त करे। 




3. किसी भी काम को करने से पहले आप उसके बारे में अच्छे से सोचे - 


किसी भी काम को करने से पहले आप उसके बारे में अच्छे से सोचने का मतलब होता है कि आप उस काम की गहराई में जा रहे होते है और उसको आसानी के साथ समझ रहे होते है ऐसा करने से आप आसानी से समझ सकते है की उस काम को करना है या फिर नहीं। 


अपने आप को सोचने के लिए समय दें और कुछ भी कहने या करने से पहले शांत रहें, जिससे आपको बाद में ये पछतावा ना रहे कि आपने खुद को कुछ समय नहीं दिया। 





4. अपनी Life में एक बैलेंस Create करे-


अगर आप अपनी Physical Health और Mental Health को हमेशा के लिए अच्छा रखना चाहते है तो सबसे पहले आप अपनी Life में एक बैलेंस Create करे।



 

यदि आप लंबे समय तक कोई भी काम कर रहे हैं तो उस काम के बीच में कुछ समय का ब्रेक अवश्य ले क्योंकि ऐसा करने से आप अपने काम की प्रोडक्टिविटी को बढ़ा सकते हैं और अपने काम के अंदर बेहतर परिणाम निकाल सकते हैं। इसके अलावा हर दिन अपने लिए कुछ समय जरूर निकालें और कुछ समय के अंदर ऐसा कार्य करें जो आपको करना पसंद है। 





5. अपनी Physical Health पर ध्यान दे -


अगर आपकी Physical Health सही नहीं है तो कभी भी आपकी Emotional Health अच्छी नहीं रह सकती है क्योकि ये दोनों आपस में Interconnect है। 


इसलिए हमेशा अपने शारीरिक स्वास्थ्य का ध्यान रखें। नियमित रूप से व्यायाम करें, स्वस्थ और संतुलित भोजन करें और पर्याप्त नींद लें। नशीले पदार्थो या शराब का उपयोग न करें। अपने शारीरिक स्वास्थ्य को अपने भावनात्मक स्वास्थ्य को प्रभावित करने से रोकें।


दोस्तों अगर आप ऊपर दी गयी बातों के ऊपर Focus करते हो तो आप आसानी के साथ अपनी Emotional Health को बेहतर बना सकते है और इनके अलावा कुछ और बातें है जो आपकी Emotional Health को बेहतर बनाने में आपकी मदद जरूर करेंगी - 




  • . हमेशा खुद को positive रखने की कोशिश करे - 


क्या आपने कभी सोचा है कि आप पॉजिटिव कैसे रह सकते हैं? जब आप पॉजिटिव लोगों के संपर्क में रहते हैं तो ही आप पॉजिटिव रह सकते हैं. यदि आप नेगेटिव लोगों के संपर्क में रहते हैं ना चाहते हुए भी आपकी सोच नकारात्मक होने लग जाती है, इसलिए हमेशा सकारात्मक लोगों के साथ अपना समय बताएं । 


Postive Thinking का सीधा कनेक्शन हमारी Emotional Health के साथ होता है, अगर हमारी सोच ही गलत है तो हम कभी भी अच्छा महसूस नहीं कर सकते है। 




  • . रोज  Positive Affirmation सुने -


खुद को positive रखने का इससे बड़ा और कोई तरीका इस दुनिया में नहीं हो सकता है, Positive Affirmation का मतलब होता है कि आप अपने आप को कुछ ऐसा बोल रहे होते है जो कि आपको और भी positive सोचने पर मजबूर करता हो, इसलिए रोज positive affirmation सुने। 




  • अपने लिए कोई meaning खोजे जो आपको आगे बढ़ने के लिए मजबूर करे - 


जब तक आप को यह पता नहीं चलता है कि जीवन में आपके लिए सबसे महत्वपूर्ण क्या है तो आप कभी भी अपने समय को सही ढंग से इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं और न ही जीवन में आगे नहीं बढ़ सकते हैं। इस दुनिया में सभी सफल लोगों ने अपने जीवन में अपने लिए एक Purpose को खोजा और उस पर पर पर लगातार काम किया और जीवन में सफलता को प्राप्त किया है। 




निष्कर्ष(Conclusion) - 


दोस्तों, आज के इस लेख के अंदर हमने आपके साथ जीवन से जुड़ी एक एक महत्वपूर्ण टॉपिक के बारे में आपके साथ बात की है, जिसके अंदर हम ने साझा किया है कि आप इमोशनली रूप से कैसे मजबूत बन सकते हैं। यदि आप भावनात्मक रूप से मजबूत होते हैं तो आप जीवन में बड़ी से बड़ी समस्या का भी आसानी से सामना कर सकते हैं। 


दोस्तों, ये जीवन है यहाँ पर हर समय कुछ भी हमारे अनुसार नहीं होता है, Problems तो हर समय आती ही रहेगी लेकिन अगर आप ऊपर दी गयी बातों को अपने जीवन में Apply करते है तो बड़ी से बड़ी समस्या का आसानी के साथ Solution निकाल सकते है और जीवन में आगे बढ़ सकते है। 



दोस्तों, आशा करता हूँ कि आपको हमारा ये पसंद आया होगा, इसको अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे जो हो सकता है कि इस Problem को Face कर रहा हो। धन्यवाद

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ