graphic designer Kaise बनें पूरी जानकारी। ग्राफ़िक डिज़ाइनर की सैलरी

ग्राफिक डिजाइनिंग  किसी बात को अभिव्यक्त करने का वह तरीका होता है जिसमें हम ग्राफिक्स के द्वारा अपना संदेश को लोगों तक पहुँचाते हैं।


तकनीक के विकास की वजह से आज के समय में ग्राफिक डिजाइनिंग बेहद प्रसिद्ध कैरियर विकल्प के रूप में माना जाता है।
  

how to become a graphic designer in hindi



बिस्किट के पैकेट से लेकर रोज पहने जाने वाले टीशर्ट के ऊपर, ग्राफिक डिजाइन हर जगह देखी जा सकती है या यह कह सकते हैं  की  जिधर भी नजर उठा कर देखें हर तरफ ग्राफिक डिजाइन देखने को मिलती है।

ग्राफिक डिजाइनर्स के लिए इंटरनेट एक बड़ा इकोसिस्टम बनकर सामने आया है,  और प्रतिदिन लाखों लोग लाखों प्रकार के कंटेंट जो किसी न किसी तरीके से ग्राफिक डिजाइनिंग का ही रूप है, को इंटरनेट पर अपलोड करते हैं।
 


Types of graphic designing jobs( ग्राफ़िक डिज़ाइनिंग में जॉब के प्रकार):



1. UI designer:


इसे यूजर इंटरफेस डिजाइनर के नाम से भी जाना जाता है यूआई डिजाइनर का मुख्य काम ग्राफिक डिजाइनिंग के सॉफ्टवेयर और मशीन पर ध्यान देना होता है जिससे वह सही तरीके से काम करें।

क्या कभी आपने ध्यान दिया है कि कैसे बड़े आराम से आप एक वेबसाइट के किसी पेज से दूसरे पेज पर चले जाते हैं वह भी बिना किसी  प्रॉब्लम के ?  वास्तव में यह काम यूआई डिजाइनर ही करते हैं जिससे कोई भी सॉफ्टवेयर बहुत ही स्मार्ट ली काम करता है।

इस जॉब के लिए आपको ग्राफ़िक software पर काम करने का काफ़ी अनुभव होना आवश्यक होता है।

2. UX designer:


इसको यूजर एक्सपीरियंस डिजाइनर के नाम से जाना जाता है इसका मुख्य काम वेबसाइट और इंसानों के बीच के तालमेल को बनाना रहता है ।

यह मार्केटिंग, मनोविज्ञान, तकनीकी और डिजाइनिंग के सिद्धांत पर काम करते हैं।  यह डिजाइनर्स रिसर्च के ऊपर बहुत अधिक समय लगाते हैं। यह विजुअल सबटाइटल्स पर ध्यान देते हैं दूसरी ओर यूज़र्ज़ को वेबसाइट को यूज करने में कोई समस्या ना हो इस बात का भी ध्यान रखते हैं।

3. Multimedia graphic designers:


multimedia graphic designers का काम illustrations, वीडियो, साउंड और पिक्चर्स का होता है। यह अपने आसपास की प्रकृति और लोगों से प्रेरणा लेकर अपनी कला को प्रस्तुत करते हैं।

इनको alag alag software को  एक साथ प्रयोग करना सीखना पड़ता है जिससे वह वीडियो, एनिमेशन, पिक्चर और स्केच को मिलाकर बेहतरीन graphics बना सकें। 


4. Web designer:


वेब डिजाइनिंग का मतलब वेबसाइट डिजाइन करने से होता है। एक वेबसाइट डिज़ाइनर का काम किसी website को बहुत ही सुंदर दिखाते हुए स्मार्ट तरीके से  रन कराने का अच्छा ज्ञान होता है।

वेब डिजाइनर का सबसे प्रमुख कार्य website को यूजर्स के लिए फ्रेंडली बनाना होता है।  वेब डिजाइनर वेबसाइट के लुक्स के साथ-साथ कंटेंट, थीम, कलर ,पेज स्पीड और वेबसाइट के फोंट को भी ध्यान में रखकर बनाते हैं।

5. Logo designer (लोगो डिज़ाइनर):



लोगो (logo) किसी भी ब्रांड को बहुत ही छोटे रूप में प्रस्तुत करता है।  लोगों (logo) के द्वारा कोई भी ब्रांड अपने को ग्राहकों के सामने एक मजबूत इंप्रेशन के साथ प्रदर्शित करता है।  


किसी भी बिजनेस का लोगो केवल एक (logo) लोगों ना होकर पूरे बिजनेस के प्रतीक के रूप में होता है।


बहुत सारी कंपनियां लोगो डिजाइन में अपना बहुत सारा पैसा इन्वेस्ट करती हैं। सारे ग्राफ़िक डिज़ाइनर (logo) लोगो बनाने में सक्षम नहीं होते हैं क्योंकि इसके लिए बहुत ही रचनात्मकता और सकारात्मक और नकारात्मक स्पेस को सही तरीके से यूज करना आना चाहिए।

क्या आप एक बार एप्पल और नायकी का लोगो याद कर सकते हैं।  मुझे आशा है कि इन दोनों ब्रांड के लोगों आपके दिमाग में उभर कर आ गए होंगे और यही कारण है जिसकी वजह से सभी ब्रांड लोगों को बहुत ही गंभीरता से लेते हैं।

क्या आपने यह पढ़ा :






6. Brand identity designer (ब्रांड आयडेंटिटी डिज़ाइनर):



ब्रांड आयडेंटिटी कई रूपों में हो सकती है जैसे marchandise और brochures के रूप में। brand identity designers का मुख्य काम किसी भी ब्रांड को इस तरीके से प्रस्तुत करना रहता है जिससे उस ब्रांड की खासियत पता चल जाए।

यह डिजाइनर मुख्य रूप से स्टेशनरी, ब्रोशुर, पोस्टर, एडवरटाइजमेंट्स डिजाइन करते हैं।

कंपनियां आईडेंटिटी डिजाइनर को कंपनी के उद्देश्य को विजुअल प्रोडक्ट के रूप में पेश करने के लिए हायर करती हैं।

आपने कभी ना कभी कुछ ऐसी calendar पर kisi Sangathan ke journal ko पाया होगा जिस पर उस संगठन का नाम बना रहता है ।  इस तरह से यह सारी चीजें ब्रांड आईडेंटिटी डिजाइन के अंतर्गत आती है।


7. Creative director (क्रीएटिव डायरेक्टर):



क्रिएटिव डायरेक्टर का मुख्य काम किसी ऐसे टीम को तैयार करना होता है जो बिलबोर्ड, आर्टवर्क्स, advertisement इत्यादि बनाती है इनका मुख्य क्षेत्र इंटरटेनमेंट या मनोरंजन का होता है।

इस टीम में copywriters, photographers aur graphic designers होते हैं ।  क्रिएटिव डिजाइनर्स का मस्तिष्क बहुत ही रचनात्मक होता है और उन्हें अपने काम का प्रचुर ज्ञान होता है। यह लोग अपनी टीम को एक साथ में आदेश देने के साथ-साथ मैनेज भी कर सकते हैं।


8. photo editor (फ़ोटो एडिटर):


किसी पिक्चर को बेहतरीन बनाने के लिए काफी कठिन प्रोसेस से गुजरना पड़ता है। पिक्चर बनाने के लिए बहुत से सॉफ्टवेयर हैं जैसे adobe photoshop, GIMB, पिक्स आर्ट और कैनवा।


फोटो एडिटिंग ग्राफ़िक डिज़ाइनर के रोज के कार्यों में आता है। बहुत सारी E-Commerce कम्पनियाँ और websites, magazines, newspaper इत्यादि को प्रतिदिन फोटो एडिटिंग की जरूरत होती है।

यदि आपको नहीं पता है की फोटो एडिटिंग कैसे करते हैं तो आप इसे ऑनलाइन भी सीख सकते हैं। इंटर्नेट पर बहुत से ऐसे कोर्स उपलब्ध हैं जहां पर आप अच्छे तरीके से फोटो एडिटिंग सीख सकते हैं।



9. Social media graphic designer:



ऑनलाइन ब्रांडिंग के लिए कंटेंट बनाना सबसे जरूरी होता है यह कंटेंट किसी ब्रांड को या फिर किसी व्यक्ति को ब्रांड बनाने के लिए बहुत जरूरी होता है।

सोशल मीडिया डिज़ाइनर का मुख्य कार्य ऐसी पोस्ट को बनाना होता है जिससे यूजर के लिए वह सोशल साइट मनोरंजनपूर्ण बना रहे।


आजकल सोशल मीडिया प्रचार(ad) करने के लिए एक बेहतरीन प्लेटफार्म बनकर उभरा है और यहीं पर सोशल मीडिया डिजाइनर की जरूरत पढ़ती है।


10. Mobile app designer (मोबाइल app डिज़ाइनर):



प्रतिदिन पूरी दुनिया में हजारों की संख्या में एप्स(apps) को प्ले स्टोर पर डाला जाता है, ऐप्स में यूजर एक्सपीरियंस सबसे ज्यादा महत्व रखता है मोबाइल एप डिजाइनर एप्लीकेशन को यूजर एक्सपीरियंस बेहतर बनाने के लिए करते है ।

इन्हें पता होता है कि सही तरीके से आइकन को यूजर इंटरफेस को, font को और कलर इत्यादि को किस तरह से और भी अच्छा बनाया जा सकता है।


11. Customised t- shirt designer:


ऑनलाइन customised T- shirt बहुत तेज़ी से लोगों के बीच लोकप्रिय हो रहें हैं ।  लोग कम से कम design के t-shirts बनाकर लाखों रुपयें कमा रहें हैं। एक T-shirt  डिजाइनर बनने के लिए आप में कलात्मक क्षमता होना जरूरी होता है।

12 . Vehicle wrap graphic Designer:


आपने कभी कभी मार्केट में टहलने वाली कुछ ऐसी गाड़ियों को देखा होगा जिस पर किसी कंपनी का नाम या किसी संस्था के नाम का डिजाइन किया गया रहता है vehicle wrap graphic डिज़ाइनर का काम गाड़ियों के ऊपर किसी ब्रांड के नेम को प्रदर्शित करना होता है। ये brands, foods ,beverages। oil इत्यादि हो सकते हैं।


ग्राफ़िक डिज़ाइनर कैसे बनें :


ग्राफिक डिजाइन सीखने के लिए आपको सबसे पहले फाइन आर्ट में डिजाइनिंग की डिग्री लेना आवश्यक होता है।


हालांकि बहुत से ग्राफिक डिजाइनर्स ऐसे भी हैं  जिन्होंने खुद की प्रैक्टिस से ही इस फ़ील्ड में काफ़ी अच्छा किया है।


कुछ लोगों में उनके जीवन की शुरुआत में ही डिजाइनिंग में रुचि होने की वजह से वह अपनी कला को और भी ज्यादा निखार देते हैं और एक प्रोफेशनल डिज़ाइनर की तरह काम करते हैं।


आप भी यूट्यूब और इंटरनेट का सहारा लेकर ग्राफिक डिजाइनिंग के बारे में काफी कुछ सीख सकते हैं।


आपको कई software पर काम करना आना चाहिए:



ग्राफिक डिजाइनर को कई सारे सॉफ्टवेयर पर काम करना आना चाहिए जिसकी मदद से वह लोगों के लिए बेहतरीन ग्राफिक्स बना सकें।


आपको कुछ सॉफ्टवेयर जैसे एडोब फोटोशॉप एडोब इलस्ट्रेटर जीआईएमपी इत्यादि को चलाना आना चाहिए।


अगर आपको पहले से ही यह सॉफ्टवेयर चलाने आते हैं तो आपको ग्राफिक डिजाइनर बनने में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा।

Degree in fine arts or design:


ग्राफिक डिजाइन में करियर बनाने के लिए सबसे पहले आपको फाइन आर्ट्स की डिग्री लेनी चाहिए।

यह डिग्री डिजाइन के सिद्धांतों, एलिमेंट्स और बेसिक्स के लिए शुरुआत में काफी मददगार साबित हो सकती है।

छोटी छोटी चीजों को मिलाकर आप अपने प्रोजेक्ट्स को और भी बेहतर तरीके से डिजाइन कर सकते हैं।

हालांकि एक बात हमेशा दिमाग में रखें की ग्राफिक डिजाइनर के लिए ऊपर दिए गए सॉफ्टवेयर को यूज़ करना आना बहुत जरूरी होता है।


complete an online course in graphic design:


अगर आपके पास ज्यादा बजट नहीं है फिर भी आप ग्राफिक डिजाइन में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो इंटरनेट पर आपको ग्राफिक डिजाइनिंग के कई सारे कोर्सेज मिलेंगे जो बहुत ही कम दाम में आपको डिजाइनिंग सिखाते हैं।

यह कोर्सेज भी आपको ग्राफिक डिजाइनिंग का अच्छा ज्ञान देने में सक्षम हैं और डिग्री के मुकाबले अफॉर्डेबल भी हैं।

Showcase your design (अपने डिज़ाइन को प्रस्तुत करें ):


ग्राफिक डिजाइनिंग में आपके द्वारा बनाए गए ग्राफिक्स आपके ग्राफिक ज्ञान को दर्शाते हैं ।

यह ठीक उसी तरह है जैसे कोई कला किसी कलाकार के बारे में बताती है इसलिए आपके पास आपने जितने प्रोजेक्ट किए हैं उनका एक पोर्टफोलियो होना जरूरी है।

दुनिया में ऐसे बहुत से ग्राफिक डिजाइनर हैं जो अपने डिजाइन दिखा कर लोगों का आकर्षण अपनी तरफ केंद्रित करते हैं साथ ही साथ धन भी कमाते हैं

कुछ ग्राफिक डिजाइनर्स के लिए बेस्ट प्लेटफॉर्म के बारे में हम नीचे बता रहे हैं अगर आपने वहाँ अपना अकाउंट नहीं बनाया है तो उन प्लेटफार्म पर जाकर आप अपना अकाउंट बना ले और दुनिया को अपने कला के बारे में बताएं।

इस तरह से आपको अपने ड्रीम जॉब को पाने में मदद मिलेगी साथ ही साथ आप पहले से अधिक पैसे भी कमा सकते हैं।

Linkdin:


linkdin एक ऐसा सोशल मीडिया plateform है जो लोगों को जॉब दिलाने में मदद करता है । linkdin पर आप अपना पोर्टफोलियो अपलोड कर सकते हैं । 

यहां पर आप अपने बेस्ट डिजाइन को एक अच्छे कैप्शन के साथ पोस्ट कर सकते हैं।

सोशल मीडिया के मदद से job पाने का केवल एक ही तरीका है वह यह है कि आप अपने संभावित क्लाइंट्स को अपने बनाए हुए प्रोडक्ट्स दिखाएं।

यदि आप प्रतिदिन कुछ ना कुछ पोस्ट करते हैं तो यह आपके लिए बहुत बेहतर साबित होगा।

Pinterest:


पिंटरेस्ट एक बहुत बड़ा सोशल मीडिया प्लेटफार्म है। पिंटरेस्ट के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि इसकी पकड़ बहुत ज्यादा ऑडियंस पर है।


प्रतिमाह 320 मिलियन लोग इसे यूज करते हैं। इसलिए अपने डिजाइंस को पिंटरेस्ट पर अपलोड करना आपके लिए लाभदायक साबित हो सकता है।


यदि आपके पास कोई वेबसाइट हो तब यह और भी अच्छी बात हो सकती है आप पिंटरेस्ट का यूज करके अपनी वेबसाइट पर ट्रैफिक को बढ़ा सकते हैं।


Instagram:


इस बात में कोई शक नहीं है की इंस्टाग्राम दुनिया की सबसे अधिक यूज की जाने वाली सोशल मीडिया प्लेटफार्म में से एक है।

आप यहां आसानी से अपने डिजाइंस को अपलोड करके लोगों से फीडबैक प्राप्त कर सकते हैं। साथ में आप यहां बड़े प्रोजेक्ट भी प्राप्त कर सकते हैं इसको यूज़ करने के लिए बस आपको इस पर एक्टिव रहना होगा।

साथ ही साथ हैश्टैग प्रयोग करना होगा एक बार आपने पर्याप्त फॉलोअर्स इकट्ठा कर लिए तो क्लाइंट्स आपसे मिलने जरूर आएंगे।

हम आपको सलाह देंगे की आप एक डिजाइनिंग पर यूट्यूब चैनल बनाएं और यहां पर भी आप अपने वीडियोस को अपलोड करें यह आपके ऑडियंस पर अच्छा प्रभाव डालेगा और आप और अधिक पैसे कमा पाएंगे।

Dribble:


यह भी डिजिटल डिजाइनर्स के लिए एक अच्छा प्लेटफार्म माना जाता है यहां पर डिजाइनर्स अपने डिजाइंस को प्रदर्शित करते हैं ।


Graphic designing की job कैसे पाएँ :


आज के दौर में  जॉब पाना आसान नहीं होता लेकिन यदि आपके पास सही तरीका हो तो यह असंभव भी नहीं है।


ज्यादातर ग्राफिक डिजाइनर्स या तो इन हाउस कर्मचारी होते हैं या फिर फ्रीलांसर्स की तरह काम करते हैं।


किसी भी जॉब को पाने के लिए निर्भर करता है कि आपका पोर्टफोलियो कितना अच्छा है इसलिए पोर्टफोलियो पर ज्यादा से ज्यादा ध्यान दें और इसे बेहतर बनाएं हम आपको वेबसाइट बनाने के लिए सलाह देंगे जहां पर आप एक्टिव रहें


यदि आप नए प्रोजेक्ट के लिए प्लेटफार्म ढूंढ रहे हैं तो हम आपको नीचे कुछ फ़्रीलैन्सिंग वेबसाइट्स के बारे में बता रहे हैं जहां पर जाकर आप अपनी प्रोफाइल बना बना सकते हैं और वहां से प्रोजेक्ट ले सकते हैं।

Fiverr:


fiverr  एक बढ़िया freelancing प्लेटफार्म है जहां पर पूरे दुनिया के डिजाइनर्स आते हैं और जॉब्स और प्रोजेक्ट प्राप्त करते हैं।


fiverr से घर बैठे पैसे कैसे कमाएँ के बारे में पूरी जानकारी के लिए आप लिंक पर क्लिक करें।


यहां पर आप अपने डिजाइनिंग को बेहतर बना कर शुरुआत में  $5 आराम से कमा सकते हैं।

साथ ही साथ यह निर्भर करता है कि आप कितने अनुभवी हैं और अपने क्षेत्र में कितने विशेषज्ञ हैं उसी के अनुरूप आपको मिलने वाले राशि में बढ़ोतरी होती जाती है।

Upwork:


अपवर्क दुनिया के  बेहतरीन विश्वशनीय freelancing प्लेटफार्म में आता है पूरे दुनिया से तमाम डिजाइनर्स अपवर्क पर जॉब और प्रोजेक्ट पाने के लिए आते हैं यहां पर आप बड़े आराम से हर घंटे $10 से $50 के बीच में पैसा कमा सकते हैं।

99 designs:


यह वेबसाइट विशेष रुप से ग्राफ़िक डिजाइनर्स के लिए बनाई गई है यहां पर आप आसानी से अपने आर्ट वर्क को शेयर कर सकते हैं जिससे आपके क्लाइंट्स आपको ढूंढ ले यहां पर आप प्रति घंटे $25 कमा सकते हैं।
हालांकि ग्राफिक डिजाइनर्स अधिकतर दूसरे प्लेटफॉर्म्स का भी यूज पैसे कमाने के लिए करते हैं।

Guru:


गुरु पर आप लोगो (logo) डिजाइनिंग के साथ-साथ और दूसरे प्रोजेक्ट पा सकते हैं इस पर आप प्रति घंटे $5 से $25 के बीच में अपना डिजाइनिंग का रेट शुरुआत में लगा सकते हैं।

काम देने वाले एंपलॉयर आपके प्रोग्रेस को टाइमट्रैकर नाम के सॉफ्टवेयर के द्वारा ट्रैक करते रहते हैं।

आप जैसे -जैसे अपने काम में अच्छे होते जाते हैं आपको और भी अच्छा rate मिलना स्टार्ट हो जाता है।


Graphic designer ki salary:


ग्लास डोर के अनुमान के मुताबिक एक ग्राफिक डिजाइनर की सैलरी $50000 से $60000 प्रतिवर्ष होती है।

शुरुआत में इनको थोड़ा संघर्ष करना पड़ता है पर धीरे-धीरे अपने मेहनत के बदौलत ये काफी अच्छा पैसा बना सकते हैं।

एक ग्राफिक डिजाइनर अच्छी आय कमाते हैं हालांकि इसमें परिवर्तन आता रहता है। इस फ़ील्ड में आपको परिवर्तन को स्वीकार करना पड़ता है और नए-नए सॉफ्टवेयर को सीखना पड़ता है।

यदि आपने ग्राफिक डिजाइनिंग को कैरियर के रूप में चुना है तो आपके लिए बहुत सारे अनगिनत और अवसर इंतजार कर रहे हैं इसलिए एक बेहतरीन पोर्टफोलियो बनाएं और अपने कैरियर की राह में आगे बढ़ना शुरू करें।



conclusion (अंत में):


ग्राफिक डिजाइन में बहुत बड़ा स्कोप है इस फील्ड में बहुत सारे अवसर हैं और यह समय के साथ- साथ बढ़ते ही जाने वाला बिजनेस है। इसीलिए हमने सोचा की आपको graphic designing के बारे पूरी जानकारी दी जाए। अगर आपको मेरा यह article पसंद आया हो तो इसको अपने मित्रों के साथ ज़रूर share करें।

अगर आपको इस लेख से सम्बंधित किसी भी प्रकार का डाउट हो तो हमें comment के माध्यम से अवश्य बताएँ। हमारी पूरी कोशिश रहती है की किसी भी टॉपिक के बारे में आपको सम्पूर्ण जानकारी दी जाए जिस से आपको उस topic के लिए किसी और website पर ना जाना पड़े।






टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां