Top 10 disadvantages of government job in hindi

disadvantage of government jobs in hindi

आपने सरकारी नौकर से होने वाले फ़ायदे के बारे में बहुत पढ़ा और सुना होगा पर आज हम आपको top 10 disadvantages of sarkari naukari in hindi के बारे में बताने जा rhe हैं।

basically सरकारी नौकरी को उस समय बहुत महत्व दिया जाता है  जब हमें अपने life में safety और security की ज़रूरत होती है। जहां private job में हमेशा हमको अपने आपको new skills से लैस रखना पड़ता है और अपने आपको बराबर एक time के बाद update रखना पड़ता है, वहीं sarkari naukari में बस एक बार नौकरी मिल जाने के बाद हम आराम से अपनी पूरी service कुछ बेसिक स्किल के सहारे काट लेते हैं।

इसीलिए अगर आप एक govermnet job aspirant है तो आप के मन में ये सवाल ज़रूर आता होगा की क्यों private jobs सरकारी jobs से अच्छी होती है (why private job is better than government job)
इसको detail में बताने के लिए हमने 10 points बनाए हैं तो आइए देखते है 




1.उबाऊ दिन (boring डेज़)

आप कोई भी काम करे अगर उसमें आप की रुचि होती है तो काम कब ख़त्म हो जाता है बिलकुल पता नहीं चलता, वही अगर आपको उस काम में कोई रुचि नहीं है केवल सैलरी के लिए आप काम कर rhe है तो आपको वो काम बहुत ही नीरस और उबाऊ लगने लगता है। 

सरकारी नौकरी में आपको यह पता रहता है आप चाहे जितना काम करलो उस से आप के सैलरी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ने वाला है ना ही आपको promotion मिलने वाला है। यहाँ आप वही काम करते हैं जो आपके senior कई सालों से करते आ rhe होंगे। 

यदि आप ऐसे व्यक्ति है जो हर दिन कुछ  नया सीखना चाहता है और अपनी स्किल की बदौलत अपने जीवन में कोई मुक़ाम हासिल करना चाहता है तो बेशक सरकारी नौकरी आपके लिए एक अच्छा विकल्प कभी नहीं हो सकती।

2.सरकारी नौकरी की तैयारी में लगने वाला टाइम- 


आपको हम अपने हाई life का एक experience बताने जा रहें हैं, मेरे एक मित्र हैं जो prayagraj में रहकर sarkari naukari की preparation कर रहे थे। उन्होंने अपना graduation और post graduation, allahabad university से किया और लगभग 8 years से Government job की preparation में लगे हुए थे। 

उनके घर की आर्थिक स्तिथि अच्छी नहीं  थी जिस से उनके घर से बहुत मुश्किल से कुछ  पैसे आ पाते थे ।
इसी बीच उनकी शादी भी कर दी गयी क्यूँकि शादी के समय तक उनकी काफ़ी age हो गयी थी। 

शादी के बाद जब घर का pressure ज़्यादा बढ़ने लगा तो वो मजबूरन प्रयागराज छोड़कर किसी मित्र के परिचय से गोवा चले गये और एक private job करने लगे जिसमें उन्हें शुरुआत में 6000 salary मिलती थी।

मात्र 1 साल के job experience के बाद उनका promotion hua इस वक्त वो उसी कम्पनी में Area sales manager की पोस्ट पर हैं और उनकी monthly सैलरी rs. 35000 है। कम्पनी उनके पूरे फ़ैमिली का medical expenses देखती हैं। 

कम्पनी की तरफ़ से इन्हें TA, DA,HRA सब मिल rha है। उन्होंने अपना कई सालों से गाँव में पड़ा पुश्तैनी कच्चा मकान भी बनवा लिया है। तो अगर आप भी government job aspirant हैं तो इस कहानी पर ज़रूर गौर कीजिएगा क्यूँकि यदि आपके साथ भी kuch ऐसी ही परिस्थितियाँ हैं तो कुछ अलग कीजिए अपने जीवन में  progress के लिए हमेश आपको ही  निर्णय लेना पड़ता है।

3. Discouraging माहौल - 

government job में आप को encourage करने वाले कम और discourage ज़्यादा करने वाले लोग मिलेंगे। क्यूँकि काम ना करने वालों के बीच में अगर आप काम करने लगे तो स्वाभाविक सी बात है की आपके बाक़ी staff को आपसे jealous होने लगेगा। एसी स्तिथि में या तो आप उनके जैसा ही काम करे या फिर अपनी जॉब पोस्ट से resign दे दें। अगर आप एक ऐसे व्यक्ति  हैं जिसको नयी चीजें  करना पसंद हो तो government job आपके लिए नहीं हैं।

4. कम मासिक आय (less monthly salary)-

आप अपने आस पास गौर करेंगे तो पाएँगे कि जो व्यक्ति अपने पूरे life government  जॉब किया वो retirement के बाद ही अपनी car  या घर ख़रीद पाता  है वो भी बहोत मुश्किल से। वो bike या car ये देख कर लेता है की इसका milage अच्छा है की नही । 

वह हमेशा अपने घर में ये नोटिस करता है की कहीं कोई लाइट या तो ON  तो नहीं  रह गयी क्यूँकि  electric bill ज़्यादा  आ जाएगा। साथ ही साथ वो हर सामान बहोत नाप -तोल  के लेता है।

वहीं private job  करने वाले लोगों को जब आप notice करेंगे तो पाएँगे की बहोत ही  कम age  में ही उनके पास महँगी गाड़ियाँ और घर और एक अच्छी lifestyle  को जी रहे  हैं। 

5. अलग-अलग जगहों  में posting ( transfer in unfamiliar places)-

आपको कैसा लगेगा अगर आप north india में पले बढ़े हों और आपकी नौकरी  south india में लग जाए । सरकारी jobs  में  specially, armed forces की और central government की jobs में एसा ही होता है । 

आपको बार बार एक जगह से दूसरी जगह पर ट्रान्स्फ़र किया जाता है।जिसकी वजह से बहोत सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। मेरे एक मित्र सीआईएसएफ़ में हैं उनकी पोस्टिंग present time में vishakhapattnam (दक्षिण भारत) में है।

वो बताते हैं की शुरुआत के टाइम में जब वो वहाँ गये तो वहाँ का climate unko suit नहीं  कर rha था। उन्हें अपने खान -पान  रहन -सहन के तरीक़ों में काफ़ी बदलाव करने पड़े तब जाकर जैसे तैसे वहाँ पर settle हो पाएँ लेकिन मज़े की बात ये है की अब उनका ट्रान्स्फ़र darjeeling में होने जा rha है। अब बेचारे क्या कर सकते हैं। बिना चाहे ही  उन्हें भारत भ्रमण  पूरे परिवार को लेकर करना पड़ रहा है।

6. कम व्यक्तिव विकास (less personality development)

लगातार एक ही जैसा काम करते -करते और एक ही  तरह के लोगों के बीच रहने  से आपका  विकास सही तरीक़े से नहीं  हो पाता है । सरकारी नौकरी में जो सैलरी मिलती है उसमें बड़े मुश्किल से गुज़ारा किया जा सकता है । 

जब आपके पास कुछ  बचेगा तभी तो आप कुछ  नया explore करेंगे। आप government department में चाहे 7 साल कार्य करें या पूरे जीवन आपको अपने personality में ज़्यादा बदलाव नही होगा।
इसीलिए सरकारी नौकरी वाले लोगों को upper class के लोग conservative और कामचोर  समझते हैं।

7. naukari ना बदल पाना (there is no way to switch your job)

sarkari नौकरी में एक सबसे बड़ी problem ये भी है की आप अपनी नौकरी नहीं छोड़  सकते । जैसा कि प्राइवट जॉब में होता है की आपको एक company nhi पसंद आयी आपने  dusri बदल ली। इसकी वजह से आप जिस department में है हो सकता है की आपका पूरा service time उसी में गुजर जाए।

8. भाई-भतीजवाद (nepotism)

अपने एसा ज़रूर सुना होगा की किसी की ministry में अछी पहोच है जिस से वो प्रोमोट होके SDM( sub district magistrate) से DM (District magistrate) पोस्ट पर चले गये। एसी बातें गवर्न्मेंट जॉब में बहोत ही आम है । यह जिसकी लाठी उसकी भैंस वाली कहावत  कारगर साबित होती है।

अगर आप की पहोच है तो आप बिना इग्ज़ैम दिए गवर्न्मेंट जॉब पा सकते हैं। आपको एसी बहोत सारी न्यूज़ पढ़ने को या देखने को मिलती होंगी की कैसे जुगाड़ का सहारा लेकर लोग sarkari नौकरी पा जाते हैं जिनमे कुछ  पकड़े भी जाते और बहोत लोग नहि पकड़े जाते हैं।

 competetive job के तैयारी करने वाले students के लिए ये बिलकुल heart breaking होता है की वो कितनी मेहनत करके भी कभी कभी मात्रा 1 या 2 marks से select नहि हो पाते वहीं kuch लोग केवल source के बदौलत बिना एक दिन पढ़े jobs ले लेते हैं।

9. Curruption (भरस्टाचार)

government job में कम salary की वजह government employees को बहुत सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है और इसीलिए कुछ  public posts पर बैठे हुए employees और अधिकारी bribery (घूसख़ोरी) करते हैं। private jobs में bribes का प्रचलन नहीं  होता इसी वजह से जितनी biggest corporation aur companies हैं वो सब private हैं।

10. अपने जॉब पर कम नियंत्रण- 

प्राइवट jobs में जब company में कोई new रूल अप्लाई करना होता है तो वो बड़ी आसानी से किया जा सकता है। government  जॉब में koi भी rules या skill ko लाने के लिए बहोत सारी प्रक्रियाओं से गुजरना पड़ता है। government services में politics  और बड़ी companies का बहोत बड़ा interfere होता है। किसी भी scheme को पास करने के लिए pehle government ko सबको face करना पड़ता जिसकी वजह से बहोत सारा समय लगता है। 


आज के पोस्ट में बस इतना हि अगर आपको हमारी ये पोस्ट अछी लगी हो तो please इसको अपने friends और group में share करें। हमारी पूरी कोशिश रहती है की आपको sbse authentic जानकारी दी जाए जिस से आपका time waste ना हो और आपको टॉपिक के बारे में पूरी आवश्यक जानकारी मिल जाए।


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ